अमरनाथ यात्रा पर जाने से पहले रखें इन महत्वपूर्ण बातों का ध्यान, अमरनाथ श्राइन बोर्ड द्वारा तय किये गये है यह दिशा-निर्देश


जम्मू कश्मीर, सुशील कुमार : अमरनाथ यात्रा के लिए आपने अपना रजिस्ट्रेशन करवा लिया है तो यात्रा के दौरान आपको खास सावधानियां बरतने पडेंगी। यात्रा से पहले अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने श्रद्धालुओं की हिफाजत के मद्देनजर कुछ दिशा निर्देश जारी कर रखे हैं। इन दिशा निर्देशों का पालन करते हुए आपको यात्रा में कोई दिक्कत पेश नहीं आएगी। अमरनाथ श्राइन बोर्ड द्वारा तय किये गये है यह है दिशा-निर्देश यात्रियों को तापमान और मौसम के मुताबिक सभी एहतियात बरतने पर जोर दिया गया है। खासकर महिलाओं को यात्रा के दौरान साड़ी न पहनकर सलवार कमीज, पैंट शर्ट या ट्रैक सूट का प्रयोग करने को कहा गया है। 13 साल से कम उम्र के बच्चों, छह माह की गर्भवती और 75 वर्ष से अधिक आयु के श्रद्धालुओं को यात्रा की इजाजत नहीं है। कई जगहों पर तापमान लुढक जाता है पांच डिग्री से नीचे बोर्ड के दिशा-निर्देशों में यात्रा ट्रैक पर कई जगह तापमान पांच डिग्री तक चला जाता है। यात्री साथ में छाता, विंड शीटर, रेन कोर्ट, वाटर प्रूफ जूते और पर्याप्त गर्म कपड़े रखें। यात्रा के दौरान वाटर प्रूफ बैग का प्रयोग करें। यात्रा के दौरान स्लीपर का प्रयोग न करके ट्रैकिंग जूतों का इस्तेमाल करें। यात्रा के दौरान ये चीजें भी रखें साथ यात्री ट्रैक पर यात्रा करते समय अपनी जेब में शिनाख्त के तौर पर नाम,पता,मोबाइल,टेलीफोन नंबर,ड्राइविंग लाइसेंस,यात्रा परमिट सहित अन्य शिनाख्ती कार्ड रखें, जिससे आपात स्थिति में यात्रियों के परिवार वालों को महत्वपूर्ण जानकारी देने के साथ अन्य जरूरी सुविधाएं मुहैया करवाई जा सकें। ग्रुप के साथ यात्रा करने वाले यात्री अपने साथियों के खो जाने की जानकारी निकटतम पुलिस को दें। जिससे समय पर एनाउंसमेंट की जा सके। शॉटकट रास्ते जान के लिए जोखिम यात्रा ट्रैक पर शार्टकट रास्ते का प्रयोग न करें यह श्रद्धालुओं की जान जोखिम में डाल सकता है। बोर्ड की ओर से धरती,पानी,वायु,आग और आसमान से जुड़ी नियमित जानकारी पर अमल करके ही यात्री आगे बढ़ें। यात्री पर्यावरण को साफ और स्वच्छ रखने में पूरा योगदान दें। राज्य में प्रतिबंधित पालीथिन का यात्रा ट्रैक पर प्रयोग न किया जाए। यात्री चेतावनी नोटिस को नजरअंदाज न करके उनका सख्ती से पालन करें।

Post a Comment

0 Comments